Topology टोपोलॉजी

Topology || टोपोलोजी:

Network की आकृति या लेआउट को कहा जाता है। Network के विभिन्न नोड किस प्रकार एक दुसरे से जुडे होते है। तथा कैसे एक दुसरे के साथ कम्युनिकेषन स्थापित करते है, उस नेटवर्क को Topology ही निधारित करता है। Topology फिजिकल या लौजिकल होती है। Topology 5 प्रकार की होती है।

1 स्टार टोपोलोजी  (Star Topology)
2 बस टोपोलोजी  (Bus Topology )
3 रिंग टोपोलोजी  (Ring Topology )
4 मेष टोपोलोजी   (Mesh topology)
5 ट्री टोपोलोजी   (Tree topology)

1 स्टार टोपोलोजी (Star Topology) – कम्प्यूटर Network की यह सबसे सरल Topology है इसमें एक मुख्य Computer होता है जिससे विभिन्न नोड जुडें होते है। यदि एक नोड से अन्य नोड पर सूचना भेजनी है तो वह पहले मुख्य Computer पर जाएगी तथा वॅहा से गंतव्य स्थान पर जाएगी स्टार Topology में अनेक छोटे Computer या पेरिफिरल उपकरण सेन्टल यूनिट से जुडे होते है जिसे हब या होस्ट कहा जाता है। सामान्यत्या यह होस्ट Computer या फाइल सर्वर होता है। सभी संचार इसी सेन्टल यूनिट से होकर गुजरते है। पोलिंग के दारा इसको नियंत्रण में रखा जाता है अर्थात इससे जुडे प्रत्येक उपकरण से संदेश भेजने के लिए पता करते है फिर इन सभी स्टार Topology का फायदा यह है कि इसका उपयोग Time sharing प्रणाली को सर्पोट करने में किया जा सकता है।

लाभ(Advantage):

1 यह Topology बनाने में सबसे आसान है।
2 इस Topology में कोई कनैक्षन टूटता भी है तो सिर्फ एक नोड को अलग किया जा सकता है बाकि पूरा Network कार्य करता रहेगा।
3 एक केन्द्रीय Computer होने के कारण पूरे नेटवर्क का नियंत्रण आसान है।

हानियॉ (Disadvantages):

1 केन्द्रीय Computer होने के कारण इसमें बहुत अधिक सख्या में नोड नहीं लगाये जा सकता सकते है।
2 पूरा Network एक केन्द्रीय Computer पर निर्भर करता है। यदि किसी भी कारण से कारण से केन्द्रीय Computer कार्य करना बंद कर दे तो पूरा Network ही बंद हो जाता है।
3 बहुत अधिक संख्या में नोड जोडने पर केन्द्रीय Computer के कार्य करने की गति कम हो जाती है।

2 बस टोपोलोजी (Bus Topology ):

इस Topology में एक ही मुख्य Computer होता है। और सभी Computer एक ही केबल से जुडे होते है। इस केबल के दोनों छोरों पर एक टर्मिनेटर लगा होता है। इस Topology में सामान्यतः कोएक्सीअल केबल काम में ली जाती है। इसमें प्रत्येक Computer या डिवाइस एक Network इण्टरफेस कार्ड (NIC) के द्वारा Network सेे जुड़ा रहता है। प्रत्येक (NIC) का एक यूनीक एडेस होता है। इसमें डेटा को छोटे-छोटे पैकेटस में टांसमिट किया जाता है।

लाभ(Advantage) :

1 यह काफी आसानी से बनायी जा सकती है।
2 इसमें सर्वर से ज्यादा केबल नहीं निकाली जाती है अत इसे किसी भी सीमा तक बढाया जा सकता है।
3 यहॉ नोडस को जोडने के लिए लम्बी केबल की आवष्कता नहीं होती है।

हानियॉ (Disadvantages):

1 तंत्र में यदि कहीं कोई गडबडी हो जाए तो उसे ढूंढना बहुत मुष्किल होता है।
2 बाद में किसी Computer को जोडना अपेक्षाकत कठिन है।

3 रिंग टोपोलोजी  (Ring Topology ):

इस Topology मे कोई केन्द्रीय मुख्य Computer नहीं होता है।इसमें प्रत्येक उपकरण दो अन्य उपकरणो से जुडते हुए एक रिंग का निर्माण करते है। इसे सरक्यूलर Topology भी कहते है। इस Topology में कम्प्यूटरो को जोडने के लिए ट्विस्टेड पेयर, कोएक्सीअल केबल या ऑप्टिकल फाइबर केबल का काम में लिया जाता है।

लाभ(Advantage):

1 यह Network अधिक सरलता से कार्य करता है क्योकिं किसी एक मषीन पर निर्भर नही होता है।
2 नोड एक दुसरे से जुडे होते है। अत इस Network में कितनें भी नोड जोडे जा सकते है।

हानियॉ (Disadvantages):

1 यदि Network में कोई खराबी आ जाती है तो उसे ढूंढना काफी मुष्किल कार्य है।
2 डाटा देने की जिम्मेदारी प्रत्येक नोड पर होती है अर्थात् प्रत्येक नोड को अपने से पहले वाले नोड से डाटा प्राप्त कर उसे अगले नोड पर पहुंचाना है।

4 मैश टोपोलोजी (Mesh topology):

मैश Topology में प्रत्येक नोड और स्टेशन्स दुसरे सभी स्टेशन्स कनेक्टेड होते है। इसमें दो नोड्स आपस में Point to point links से कनेक्टेड होते है। नोडस कनेक्ट करने के लिए हमे n(n-1)/2 links की आवश्यकता होती है। इसमे कनेक्शन के लिए ट्विस्टेड पेयर, कोएक्सीअल केबल या ऑप्टिकल फाइबर केबल का काम मे लि जाती है।

लाभ(Advantage):

1 Point to point Connection होता है जिससे Network में कोई गडबडी का आसानी से पता लगाया जा सकता है।
2 Rabust System होता है क्योंकि अगर इसमें कोई एक link खराब हो जाता है। तो उसे कारण पूरा सिस्टम फेल नहीं होता है।

हानियॉ (Disadvantages)

1 इस में एक नया कनेक्षन जोडना कठिन होता है।
2 इसमें इनपुट आउटपुट पोर्ट की संख्या बहुत ज्यादा होती है।

5 ट्री टोपोलोजी (Tree topology):

ट्री Topology में स्टार तथा बस दोनों Topology के लक्षण विधमान होते है। इसमें स्टार Topology की तरह एक होस्ट Computer होता है और बस Topology की तरह सारे Computer एक ही केबल से जुडे रहते है। यह Network एक पेड के समान दिखाई देता हैं।

लाभ(Advantage):

1 प्रत्येक (individual Segment)  के लिए Point to Point Using होती है।
2 कई हार्डवेयर तथा सॉफ्टवेयर विक्रेताओ के .द्वारा सपोर्ट किया जाता है।

हानियॉ (Disadvantages)

1 प्रत्येक भाग Segment का कुल लम्बाई प्रयोग मे लाये गए तार के द्वारा सीमित होती है।
2 इसमें मेन लाइन टुट जाती है तो पूरा आगे का भाग भी रूक जाता है |

Leave a Comment