Indian में Education Loan कैसे ले

हेल्लो दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम बात करने वाले है Education Loan क्या होता है? इनको दिया जाता है Education Loan के लिए क्या क्या रिक्वायरमेंट होती है एजुकेशन लोन पर कितना इंट्रेस्ट रेट देना पड़ता है।

एजुकेशन लोन || Education Loan :-

12 क्लास  करने के बाद सभी का सपना होता है की वो किसी अच्छे कॉलेज में या फिर विदेश में जाकर केस स्टडी करे लेकिन टैलेंट के बावजूद भी महंगी होती जा रही हाइअर स्टडीज़ की वजह से कुछ स्टूडेंट का ये सपना पूरा नहीं हो पाता है।

अगर आपका भी ऐसा ही कोई सपना है तो आपको मायूस होने की जरूरत नहीं है, क्योंकि ऐसे में आपका सहारा बन सकता है। Education Loan आजकल लगभग सभी सरकारी और प्राइवेट बैंक एजुकेशन लोन देते हैं।

हालांकि Education Loan मिलना इजी नहीं है लेकिन अगर आपके पास प्रॉपर डॉक्यूमेंट है और आप थोड़ी सी मेहनत करें तो आपको एजुकेशन लोन आसानी से मिल सकता है।

Education Loan Requirements:-  

सबसे पहले हम बात करते है Education Loan लेने के लिए क्या क्या रिक्वायरमेंट होती है Education Loan लेने के लिए आपको चार रिक्वायरमेंट को पूरा करना होता है। सबसे पहले रिक्वायरमेंट यह है के स्टूडेंट भारतीय नागरिक होना चाहिए यानी इंडियन सिटिजन होना चाहिए।

दूसरी रिक्वायरमेंट ये है की स्टूडेंट की उम्र 16 से 35 साल के बीच में होनी चाहिए। हालांकि आरबीआइ की ऐसी कोई गाइडलाइन नहीं है। के स्टूडेंट की उम्र 16 से  35 साल के बीच में होनी चाहिए लेकिन ये बैंक की अपनी पॉलिसी होती है। इसलिए स्टूडेंट की उम्र 16 से 35 साल  के बीच में होनी चाहिए।

तीसरी  रिक्वायरमेंट यह है कि स्टूडेंट का ऐडमिशन इंडिया के किसी भी मान्यता प्राप्त इंस्टीटयूट में यूनिवर्सिटी में या फिर विदेश की किसी भी यूनिवर्सिटी में कन्फर्म होना चाहिए।

चौथी रिक्वायरमेंट ये है की अगर आप ₹4,00,000 से ज्यादा का लोन लेना चाहते हैं तो आपको कोई गारंटर या फिर कोई असेट देनी होती है। एजुकेशन लोन वेरियस करियर और कोर्सेज जैसे इंजीनियरिंग, मैनेजमेंट, मेडिकल वगैरह में ऐडमिशन लेने वाले स्टूडेंट्स को आसानी से मिल जाता है। ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन में ऐडमिशन लेने वाले स्टूडेंट्स को भी एजुकेशन लोन मिल जाता है।

बैंक कोई भी लोन देने से पहले उसकी वसूली शोयोर करते हैं, इसलिए लोन ऐसे लोगों को दिया जाता है जो उसके रीपेमेंट की कैपेसिटी रखते है। एजुकेशन लोन का भुगतान स्टूडेंट के गार्जियन भी कर सकते हैं और पढ़ाई पूरी होने के बाद स्टूडेंट भी कर सकता है।

कितना लोन मिल सकता है ?

चलिए हम बात करते है एजुकेशन लोन में आपको कितने Amount तक का Loan मिल सकता है। डोमेस्टिक इन्स्टिट्यूशन में एजुकेशन हासिल करने के लिए आपको 10 लाख तक का लोन मिल सकता है लेकिन अगर आप विदेश में स्टडी करना चाहते हैं तो आपको 20 से 25 लाख रुपए के बीच में लोन मिल सकता है।

आप फीस के साथ साथ ही एक्स्ट्रा खर्चे जैसे होस्टल का किराया, लाइब्रेरी और लेबोरिटी की फीस किताबें, इक्विपमेंट, इन्स्ट्रूमेंट्स, यूनिफॉर्म वगैरह के खर्चों को भी इसमें शामिल कर सकते हैं। अगर आप ₹4,00,000 तक का लोन लेना चाहते हैं तो आपको अपने पास से एक भी रुपया खर्च करने की जरूरत नहीं है। टोटल अमाउंट आपको बैंक पे करेगा

लेकिन अगर आप 4 लाख से ज्यादा का लोन लेना चाहते हैं तो फिर बैंक से आपको सिर्फ 80% तक ही लोन देंगे। बाकी का जो 20% है वो आपको अपने पास से खर्च करना होता है। इसको मार्जिन मनी भी कहा जाता है।

डॉक्यूमेंट क्या चाहिए

एजुकेशन लोन लेने से पहले यह जरूरी है कि जो इम्पोर्टेन्ट Document है आप उनको पहले ही तैयार कर लें ताकि आपको Loan लेने के लिए किसी दिक्कत का सामना न करना पड़े। एजुकेशन लोन लेने के लिए बैंक से आपको एक फॉर्म लेना होता है और उसको भर कर उसके साथ कुछ Document लगा करके उसको Submit करना होता है।

Education Loan के लिए स्टूडेंट का आइडेंटिटी प्रूफ, उम्र प्रूफ, एड्रेस प्रूफ और अकैडमिक रिकॉर्ड लिया जाता है। लोन लेने वाले स्टूडेंट के पैरेंट या गार्जियन का इनकम और ऐड्रेस प्रूफ लिया जाता है जिस इंस्टिट्यूट में स्टूडेंट का ऐडमिशन कन्फर्म हुआ है, उस इंस्टिट्यूट के ऐडमिशन लेटर की कॉपी भी होनी चाहिए। अवॉर्ड स्टडी के लिए जाने वाले स्टूडेंट को वीज़ा अप्रूवल, जीआरई, जीमैट वगैरह के टेस्ट स्कोर और ट्रैवल से जुड़े हुए डॉक्यूमेंट की कॉपी भी जमा करनी होती है,

Bank में अकाउंट होना जरुरी है क्या ?

जिसे Bank से आप लोन लेना चाहते है, उसमें आपका अकाउन्ट होना जरूरी नहीं है लेकिन अगर उस बैंक में आपका अकाउन्ट है तो लोन मिलने में आपको काफी आसानी हो जाती है।

क्या गारंटर जरुरी है ?

ज्यादातर बैंक में ₹4,00,000 तक के लोन के लिए गारंटर की कोई जरूरत नहीं होती है। लेकिन अगर आप ₹4,00,000 से ज्यादा का लोन लेना चाहते हैं तो आपको गारंटर की जरूरत पड़ती है।

गारंटर लोन लेने वाले के गार्जियन या फिर रिश्तेदार भी हो सकते हैं जिन पर बैंक भरोसा कर सके। आम तौर पर भारत में स्टडी करने के लिए बैंक 5 से 15 लाख तक का लोन देते हैं और विदेश में स्टडी करने के लिए 15 से 20 लाख तक का लोन देते हैं। 4 से 7.5 लाख तक का लोन आप गारंटर की हेल्प ले सकते हैं

लेकिन अगर आप इससे ज्यादा का लोन लेना चाहते हैं तो बैंक प्रॉपर्टी के पेपर या ऐसे ही कोई डॉक्यूमेंट जमानत के रूप में आप से मांग सकते हैं।

इंट्रेस्ट रेट क्या लगता है ?

चलिए हम बात करते है एजुकेशन लोन पर दिए जाने वाले इंट्रेस्ट रेट के बारे में। एजुकेशन लोन पर ब्याज दर आम तौर पर 11% से 14% के बीच में होती है, लेकिन कुछ बैंक इससे ज्यादा भी ब्याज लेते हैं। कई बैंक गर्ल्स के लिए कम ब्याज दर रखते हैं SBI बैंक एजुकेशन लोन पर सालाना 11 से 13.75% तक ब्याज लेता है।

इसके अलावा SBI  ने गर्ल्स के लिए स्पेशल एजुकेशन लोन दरें तय कर रखी है। प्राइवेट सेक्टर के सबसे बड़े बैंक HDFC Bank में एजुकेशन लोन पर ब्याज दर फिलहाल 12-14 %  है और ऐक्सिस बैंक के एजुकेशन लोन की ब्याज दर। 15-18 % के बीच में होती है। बाकी आप जिस बैंक से लोन लेना चाहते हैं, वहाँ से आपको कन्फर्म करना होता है।

Education Loan Pay करने के क्या आप्शन है?

एजुकेशन लोन की वसूली के लिए बैंक आपको कोई और ऑप्शन देते हैं। पहला ऑप्शन ये है की आपने जिसे कोर्स में ऐडमिशन लिया है वो कोर्स फाइनल होने के बाद आप कर्ज का भुगतान कर सकते हैं कई बैंक कोर्स फाइनल होने के 1 साल के बाद या फिर नौकरी लगने के छह महीने के बाद रीपेमेंट शुरू करने का ऑप्शन देते हैं।

कुछ बैंक कोर्स पूरा होने के बाद EMI तय कर देते हैं। अगर आप कैपेबल है तो लोन मिलने के तुरंत बाद भी आप इ एम आई का भुगतान कर सकते हैं।

क्या इनकम टैक्स में छूट मिलती है ?

एजुकेशन लोन पर दिए गए ब्याज को आप अपनी इनकम में से घटा सकते हैं। जब से आपकी EMI शुरू होती है तब से लेकर के अगले 8 साल तक आप जितना भी ब्याज पे करते है वो आप अपनी इनकम में से घटा सकते है। अगर लोन परिवार वालो के नाम पर है तो फिर स्टूडेंट उसका फायदा नहीं ले सकता है। लेकिन अगर लोन स्टूडेंट के नाम पर है तो फिर स्टूडेंट इनकम टैक्स में छूट का फायदा ले सकता है।

Leave a Comment