माइम in computer networks in hindi

Hello Dosto आज की इस Post में हम Internet MIME के बारे में जानेगे। Internet MIME (मल्टी पर्पज Internet मेल एक्सटेंशन ) आज E-mail तकनीक ने इतना विकास कर लिया है कि सिर्फ Text ही नही बल्कि photo, audio और video आदि को Mail में send किया जा सकता है । इस प्रकार की सूचनाओं को E-mail संदेश के साथ एक अतिरिक्त File के रूप में भेजा जाता है।

Advertisement

MIME क्या होता है ? कंप्यूटर Protocol में

MIME 1991 में नेथन बोरस्टीन के द्वारा बनाया गया था। आज इसकी मदद से ही Internet यूज़र किसी E-mail में साधरण Text के बजाय फ़ॉर्मेट Text व photo आदि send कर सकते है।

MIME वर्ल्ड वाइड वेब के लिय एक वरदान क्योंकि http सर्वर माइम आधारित Document के निवेदन का उतर देता है । यदि कोई Browser निवेदन करता है । footer.jpg तो सर्वर माइम टाइप की image/jpeg को रिर्टन करेगा।

Web Browser तय करेगा कि Document के लिए उठाना है । या नही World Wide Web इन Fils संभालता है । तथा साथ ही इसे MIME के काम मे आने के लिये बनाता है । MIME इन्हें System के लिए रजिस्टर्ड करता है ताकि इनकी सुचनाओ के साथ ऊन्हें प्रोसस किया जा सके ।

MIME Protocol प्रेषक Computer से ईमेल संदेश तथा उससे जुडी File जिसमे Text , Picture, Audio, video आदि को प्राप्त करके उसे कोडित करता है । फिर उसे प्राप्ता कर्ता के Computer तक पहूॅचाकर पुनः कोडित कर देता है ।

Internet MIME

हमें MIME की आवश्यकता क्यों है?:-

  • SMTP एक बहुत सरल संरचना में होती है।
  • MIME केवल NVT 7-बिट ASCII प्रारूप में मेसेज भेजता है।
  • इसका यूज़ निचे दी गई भाषाओं के लिए किया जाता है ।
  • जो 7-बिट ASCII फॉर्मेट को सपोट नही करते है।
  • जैसे की – फ्रेंच, जर्मन, रूसी, चीनी और जापानी, आदि,
  • इसलिए इसे SMTP का उपयोग करके प्रेषित नहीं किया जा सकता है।
  • SMTP को अधिक व्यापक बनाने के लिए हम MIME का उपयोग करते हैं।
  • इसका उपयोग बाइनरी फाइल या Video या Audio डेटा भेजने के लिए नहीं किया जा सकता है।
  • Video & Audio फॉर्मेट के कारण MIME की जरूरत होती है। 

Read More Article:-

Summary:-

हमने आज की ब्लॉग पोस्ट में Internet MIME Computer Network के बारे में जाना है तो आप कमेंट करके जरुर बताना की यह पोस्ट केसी लगी ।

Advertisement

Leave a Comment